Jangali Sarson Ke Uphaar
Publisher/Group: Eklavya
Product Code: 9789385236266
Name: जंगली संरसों के उपहार
Author: Karen Haydock
Illustrator: Karen Haydock
Translator: Shashi Sablok
ISBN-13: 978-93-85236-26-6
Binding: Paperback
PublishingDate: 2017
Publisher: Eklavya
No. Of Pages: 52
Language: Hindi
Availability: 500
Rs. 95.00
 
0 reviews       0 reviews     Write a review

क्या आप जानते है कि जो पौधे आज हम खाते है वे पहले नहीं होते थे? बंद गोभी, फूल गोभी या मुली पहले नहीं पाए जाते थे? तो फिर से पौधे आए कहा से ? पौधो का विकास हुआ कैसे? यह किताब न सिर्फ इस सवालों के जवाब ढूँढने मे आपकी मदद करती है बल्कि सवाल और खोजबीन करने के लिए भी प्रेरित करती है ...

Write a review

Your Name:


Your Review: Note: HTML is not translated!

Rating: Bad           Good

Enter the code in the box below:



Powered By OpenCartPitaraKART © 2017.  Made by ThemeGlobal