Tipik Pa Bharr…
Publisher/Group: Eklavya
Product Code: 9788187171249
Name: टिपिक पां भर्रर्र...
Author: Varsha Sahastrabudhe
Illustrator: Madhuri Purandare
ISBN-13: 978-81-87171-24-9
Binding: Paperback
Publisher: Eklavya
No. Of Pages: 24
Language: Hindi
Availability: 976
Rs. 20.00
 
0 reviews       0 reviews     Write a review

ध्यान लगाकर सुनना ही असल में सुनना होता है। अपने आसपास अनगिनत ऐसी आवाज़ें होती हैं जो शोर में गुम हो जाने या हमारे अन्यमनस्क होने की वजह से हम सुन नहीं पाते। प्रकृति और परिवेश में गूँजती ऐसी ही अनसुनी-सी आवाज़ों को सुनने का अभ्यास कराती है यह किताब।

Write a review

Your Name:


Your Review: Note: HTML is not translated!

Rating: Bad           Good

Enter the code in the box below:



Powered By OpenCartPitaraKART © 2017.  Made by ThemeGlobal