Warning: Cookie paths cannot contain any of the following ',; \t\r\n\013\014' in /home/pitarakart/public_html/system/framework.php on line 111Warning: Cookie paths cannot contain any of the following ',; \t\r\n\013\014' in /home/pitarakart/public_html/catalog/controller/startup/session.php on line 26Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/pitarakart/public_html/system/framework.php:42) in /home/pitarakart/storage/modification/catalog/controller/startup/startup.php on line 265Warning: Cannot modify header information - headers already sent by (output started at /home/pitarakart/public_html/system/framework.php:42) in /home/pitarakart/storage/modification/catalog/controller/startup/startup.php on line 323 Bulb Kaise Jale?
Cart
Bulb Kaise Jale?

Bulb Kaise Jale?

  • Name: बल्ब कैसे जले?
  • Publisher/Group: Eklavya
  • Product Code: 9789391132019
  • Author: Ajay Sharma
  • Illustrator: Harmanpreet Singh
  • ISBN-13: 978-93-91132-01-9
  • Binding: Paperback
  • No. Of Pages: 16
  • Language: Hindi
  • PublishingDate: 2021
  • Availability: 493
  • $ 15.00

     
  • Ex Tax: $ 15.00

शिक्षण एक ऐसा अनोखा पेशा है जिसमें कार्यरत अधिकांश लोग अपने काम से जुड़े ज्ञान और विषयवस्तु पर

विशेषज्ञता का दावा नहीं कर पाते हैं। हमारे देश में अधिकांश कॉलेज विज्ञान शिक्षकों की इतनी पुख्ता तैयारी

नहीं करा पाते कि वे अँग्रेज़ी में लिखी विज्ञान की किताबों को पढ़कर स्कूली विज्ञान के टॉपिक्स को सरल भाषा

में अच्छी तरह से अपने छात्रों को समझा सकें। इसी कमी को कुछ हद तक पूरा करने की कोशिश एकलव्य ने

विज्ञान मॉड्यूल शृंखला के ज़रिए की है। बल्ब कैसे जले? मॉड्यूल इस कोशिश का एक छोटा-सा हिस्सा है।


Write a review

Note: HTML is not translated!
    Bad           Good
Captcha